54 वें अंतरराष्ट्रीय भारतीय फ़िल्म महोत्सव की उलटी गिनती शुरू

0
527

सिने प्रतिनिधि, इंदौर स्टूडियो। 54 वें अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव की उलटी गिनती शुरू हो गई है। यह फेस्टिवल (54th IFFI) 20 से 28 नवंबर, 2023 तक गोवा में आयोजित होगा। इस फेस्टिवल में दुनिया भर से आये सिने दिग्गज एक ही छत के नीचे जमा होंगे। फिल्मों की स्क्रीनिंग के साथ ही कई रचनात्मक कार्यक्रम होंगे। (फाइल फोटो: 53 वें फ़िल्म महोत्सव में सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर अभिनेत्री आशा पारिख को सम्मानित करते हुए।) महोत्सव के लिये रजिस्ट्रेशन शुरू: महोत्सव में शामिल होने के लिये रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। एक सिनेमा प्रेमी, प्रोफेशनल और एक छात्र के रूप में आप भी वेबसाइट iffigoa.org पर जाकर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। सिनेमा प्रेमियों और प्रोफेशनल के लिये रजिस्ट्रेशन फीस एक हज़ार रुपये रखी गई है। जबकि छात्रों के लिये कोई शुल्क नहीं है। इसके साथ ही ‘फिल्म बाज़ार’ के 17 वें संस्करण का भी पंजीकरण शुरू हो गया है। देश और दुनिया की फ़िल्मों का महोत्सव: यह महोत्सव, भारतीय राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम लिमिटेड (एनएफडीसी), सूचना और प्रसारण मंत्रालय, भारतीय फिल्म उद्योग के माध्यम से एंटरटेनमेंट सोसाइटी ऑफ गोवा (ईएसजी) और गोवा राज्य सरकार के सहयोग से आयोजित हो रहा है।
विभिन्न वर्गों की फ़िल्मों का चयन: आईएफएफआई अलग-अलग वर्गों में भारतीय और विश्व सिनेमा से फिल्मों के चयन की व्यवस्था करता है। इन फ़िल्मों से सम्बधित वर्ग इस प्रकार से हैं-
1. अंतर राष्ट्रीय प्रतियोगिता (15 प्रशंसित फीचर फिल्मों का चयन)
2. आईसीएफटी-यूनेस्को गांधी मैडल पुरस्कार के लिए प्रतियोगिता
3. एक निर्देशक की सर्वश्रेष्ठ पहली फीचर फिल्म के लिए प्रतियोगिता
4.  सिनेमा ऑफ द वर्ल्ड (आईएफएफआई का दुनिया भर से अंतरराष्ट्रीय फीचर  फिल्मों का आधिकारिक चयन)
5. भारतीय पैनोरमा (विभिन्न भारतीय भाषाओं में सिनेमाई, विषयागत और सौंदर्य उत्कृष्ट फीचर और गैर-फीचर फिल्मों का संग्रह)
6. फेस्टिवल कैलिडोस्कोप (दिग्गजों की असाधारण फिल्मों का प्रस्तुति, उभरती प्रतिभाओं के काम अन्य फिल्मोत्सवों की समीक्षकों द्वारा प्रशंसित फिल्में )एनिमेशन और डाक्युमेंट्री फ़िल्में भी: महोत्सव में कंट्री फोकस, एनिमेशन, वृत्तचित्र और गोवा फिल्म्स जैसी भारतीय और विदेशी फिल्मों के विशेष क्यूरेटेड पैकेज भी शामिल किये जाते हैं। गाला प्रीमियर, दैनिक रेड कार्पेट कार्यक्रम और विभिन्न उत्सव भी इस फेस्टिवल का आकर्षण बढ़ाते हैं।स्क्रीनिंग के अलावा भी बहुत कुछ: स्क्रीनिंग के अलावा महोत्सव में कार्यशालाओं, मास्टरक्लासेस, आपसी संवाद और पैनल चर्चा का भी आयोजन होता है। इसमें राष्ट्रीय और अंतर राष्ट्रीय फिल्म कम्युनिटी के 200 से अधिक हस्तियां सम्मिलित होती हैं। 54 वें आईएफएफआई के लिए प्रतिनिधि पंजीकरण निम्नलिखित श्रेणियों के माध्यम से किया जा सकता है। इसमें सिनेमा प्रेमियों और प्रोफेशनल के लिये रजिस्ट्रेशन फीस एक हज़ार रुपये रखी गई है। जबकि छात्रों के लिये कोई शुल्क नहीं है।फिल्म बाजार’ का 17 वां संस्करण: 54 वें आईएफएफआई के साथ-साथ एनएफडीसी द्वारा आयोजित ‘फिल्म बाज़ार’ के 17 वें संस्करण का भी पंजीकरण शुरू हो गया है। यह ‘फिल्म बाज़ार’ दक्षिण एशिया के सबसे बड़े वैश्विक सिने बाजार के रूप में कार्य करता है, जो दक्षिण एशियाई और अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्मकारों, निर्माताओं, बिक्री एजेंटों और उत्सव प्रोग्रामरों के बीच रचनात्मक और वित्तीय सहयोग की सुविधा प्रदान करता है। फिल्म बाज़ार के लिए पंजीकरण  filmbazaarindia.com पर उपलब्ध है। आगे पढ़िये –

फ़िल्म ‘जवान’ की सुनामी जारी, अभी टूटेंगे कई और रिकॉर्ड

LEAVE A REPLY